Breaking News

प्रेरक प्रसंग:- गिरवी के पत्थर


देश 11 June 2024
post

प्रेरक प्रसंग:- गिरवी के पत्थर

 एक बार गुरु नानक बगदाद गए हुए थे वहां का शासक बड़ा ही अत्याचारी था वह जनता को कष्ट दे- देकर उनकी सम्पत्ति को लूटकर अपने खजानें में जमा किया करता उसे जब मालूम हुआ कि  हिन्दुस्तान से कोई साधु पुरुष आया हैतो वह नानकजी से मिलने उनके पास गया कुशल- समाचार पूछने के उपरांत नानकजी ने उससे 100 पत्थर गिरवी रखने की विनती की शासक बोला, "पत्थर को गिरवी रखने में कोई आपत्ति नहीं हैकिन्तु आप उन्हें ले कब जायेंगे 

"आपके पूर्व ही मेरी मृत्यु होगी मेरे मरणोपरांतइस संसार में आपकी जीवन यात्रा समाप्त होने पर जब आप मुझसे मिलेंगेतब इन पत्थरों को मुझे दे दीजियेगा |"-

नानक बोले

"आप भी कैसी बातें करते हैंमहाराज ! भला इन पत्थरों को लेकर मैं वहां कैसे जा सकता हूँ ?"

 "तो फिर जनता को चूस-चूसकर आप जो अपने खजाने में नित्य वृद्धि किये जा रहे हैंक्या वह सब यहीं छोड़ेंगेउसे भी अपने साथ ले ही जायेंगे बस साथ में मेरे इन पत्थरों को भी लेते आइएगा | "

उस दुराचारी की आँखें खुल गयीं नानक के चरणों पर गिरकर उनसे क्षमा मांगी और प्रजा को कष्ट न देने का वचन दिया |

प्रेरक प्रसंग:- गिरवी के पत्थर

You might also like!



RAIPUR WEATHER